ये शख्स था जडेजा का दोहरा शतक पूरा नहीं होने का जिम्मेदार.अश्विन का खुलासा!

रवींद्र जडेजा का दोहरा शतक पूरा नहीं होने से फैंस अभी तक नाराज हैं. टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने अब इस मामले में खुलासा करते हुए बताया है कि कप्तान रोहित शर्मा नहीं इस बात के लिए कोई और ही आदमी जिम्मेदार था.

मोहाली में खेले गए पहले टेस्ट मैच में पारी और 222 रनों से मात देकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना रखी है. इस मैच में टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने कहर मचाते हुए नाबाद 175 रन बनाए थे और 9 विकेट भी झटके थे. इस मैच में जब रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले दोहरे शतक से सिर्फ 25 रन दूर थे, तो टीम इंडिया (Team India) के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने पारी घोषित कर दी. इस बात को लेकर अभी तक बड़ा बवाल भी मच रहा है.

अश्विन का  खुलासा:

रवींद्र जडेजा का दोहरा शतक पूरा नहीं होने से फैंस अभी तक नाराज हैं. हर कोई इस बात के लिए कप्तान रोहित शर्मा को कसूरवार ठहरा रहा है. टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने अब इस मामले में सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया है कि कप्तान रोहित शर्मा नहीं इस बात के लिए कोई और ही आदमी जिम्मेदार था. रवींद्र जडेजा का दोहरा शतक पूरा नहीं होने को लेकर अश्विन ने कहा, ‘रोहित शर्मा चाहते थे कि जडेजा अपना दोहरा शतक लगाएं, लेकिन खुद रवींद्र जडेजा ने कहा कि अभी समय लगेगा और पारी घोषित करना सही फैसला रहेगा.’ जडेजा ने खुद भी कहा था कि श्रीलंकाई खिलाड़ी थके हुए थे और इसीलिए उन्होंने टीम से पारी घोषित करने की बात कही थी. ये फैसला किसी और का नहीं बल्कि खुद रवींद्र जडेजा का था.

ये शख्स था रवींद्र जडेजा का दोहरे शतक पूरा नहीं होने का जिम्मेदार

अश्विन ने खुलासा करते हुए कहा, ‘कप्तान रोहित शर्मा वो इंसान थे जो चाहते थे रवींद्र जडेजा टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला दोहरा शतक पूरा करें. हालांकि, वह जडेजा ही थे, जिन्होंने कहा था कि यह जरूरी नहीं है. आपको टीम इंडिया की पारी घोषित कर देनी चाहिए. यही सब चीजें हैं. रोहित काफी अनुभवी हैं. मेरा मानना है कि वह अपना काम बेहद शानदार तरीके से कर रहे हैं. ये दिखाता है कि वह कितने निस्वार्थ हैं.

रवींद्र जडेजा ने मोहाली में मचाया कहर 

रवींद्र जडेजा ने अपने हरफनमौला प्रदर्शन से श्रीलंका के खिलाफ मोहाली में खेले गए पहले टेस्ट मैच में अकेले दम पर भारत को जीत दिला दी. रवींद्र जडेजा ने नाबाद 175 रन की पारी खेलने के साथ मैच में कुल 9 विकेट झटके, जिससे टीम श्रीलंका पर तीन दिन के अंदर पारी और 222 रनों की बड़ी जीत दर्ज करने में सफल रही. पहली पारी में 174 रन पर सिमटने के बाद श्रीलंकाई टीम दूसरी पारी में 178 रन पर सिमट गई.

तीन दिन में खत्म हो गया मैच

इस टेस्ट मैच को भारत ने दिन में ही जीत लिया था. टीम इंडिया ने श्रीलंका को पारी और 222 रनों से मात देकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना रखी है. टेस्ट कप्तान के तौर पर यह रोहित शर्मा का पहला टेस्ट मैच था और उनकी कप्तानी की काफी तारीफ हो रही है. अश्विन ने रोहित को लेकर कहा, ‘हम सभी जानते हैं कि रणनीति को लेकर रोहित कितने अच्छे कप्तान हैं. वह इस बात का ध्यान रखते हैं कि मैदान पर हर खिलाड़ी कंफर्टेबल रहे, जिससे टीम का प्रदर्शन अच्छा रहे.’  रविंद्र जडेजा ने इस मैच में नॉटआउट 175 रनों की पारी खेली थी. भारत ने आठ विकेट पर 574 रनों पर पारी घोषित कर दी थी. अश्विन ने कहा कि खिलाड़ियों को सपना होता है कि उन्हें जर्सी पहनकर मैदान पर उतरने का मौका मिले. अश्विन ने इस इंटरव्यू के दौरान बताया कि कपिल देव ने उनके लिए फूल भेजे थे और हाथ से लिखा एक खास मैसेज भेजा था. अश्विन ने इस मैच के दौरान कपिल देव को पीछे छोड़ा था. कपिल देव के खाते में 434 टेस्ट विकेट थे और अश्विन अब उनसे आगे निकल गए हैं.

जडेजा-अश्विन ने लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी

जडेजा ने जहां व्यक्तिगत उपलब्धि हासिल की तो रविचंद्रन अश्विन ने कपिल देव (131 मैच में 434 विकेट) को पीछे छोड़ दिया और अब 436 विकेट चटकाकर भारत के दूसरे सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं. अश्विन इस तरह अनिल कुंबले के 619 विकेट के रिकॉर्ड से पीछे हैं. वहीं, रोहित दूसरे भारतीय कप्तान बन गए हैं जिन्होंने कप्तानी की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहले ही मैच में टीम को पारी से जीत दिलायी हो. पॉली उमरीगर पहले भारतीय कप्तान थे जिनकी अगुवाई में भारत ने 1955-56 में मुंबई में न्यूजीलैंड को पारी और 27 रन से पराजित किया था.

‘मैन ऑफ द मैच’ जडेजा पीसीए स्टेडियम को अपने लिये भाग्यशाली मानते हैं. उन्होंने साथ ही कहा था कि वह बल्लेबाजी या गेंदबाजी करते हुए आंकड़ों पर ध्यान नहीं देते. जडेजा ने कहा, ‘मैं इसे अपने लिए भाग्यशाली मैदान कहूंगा. जब भी मैं यहां आता हूं, मुझे सकारात्मक अहसास होता है. मैं ऋषभ पंत के साथ भागीदारी की कोशिश कर रहा था, उसे स्ट्राइक देकर दूसरे छोर से उसकी बल्लेबाजी का लुत्फ उठा रहा था. ईमानदारी से कहूं तो मुझे किसी आंकड़े के बारे में नहीं पता.

 

Zee News 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *